Click here to submit
देश और विदेश के शाकाहारी जैन रेस्तराँ एवं होटल की जानकारी के लिए www.bevegetarian.in विजिट करें देश और विदेश के जैन मंदिरों एवं जिनालय की जानकारी के लिए www.jaintemple.in विजिट करें Apple Store - आचार्यश्री विद्यासागरजी के वॉलपेपर फ्री डाउनलोड करें Apple Store - जैन टेम्पल आईफोन/आईपैड पर Apple Store - शाकाहारी रेस्टोरेंट आईफोन/आईपैड पर दिगंबर जैन टेम्पल/धर्मशाला Android पर शाकाहारी रेस्टोरेंट Android पर आचार्यश्री के वॉलपेपर Android पर Youtube - आचार्यश्री विद्यासागरजी के प्रवचन देखिए Youtube पर आचार्य श्री की जानकारी अब Facebook पर

गौशाला

16,796 views

गौशाला परिचय


गाय देश का

धर्मशास्त्र है, कृषिशास्त्र है

अर्थशास्त्र है, नीतिशास्त्र है।

उद्योगशास्त्र है, समाजशास्त्र है
विज्ञान्शास्त्र है, आरोग्यशास्त्र है।

पर्यावरणशास्त्र है, आध्यात्मशास्त्र है।


दाँतों तले तृण दाब कर दीन गायें कह रहीं,

हम पशु तुम हो मनुज पर योग्य क्या तुमको यही।

हमने तुम्हें माँ की तरह है दूध पीने को दिया।

देकर कसाई को हमें तुमने हमारा वध किया।

क्या वश हमारा है भला हम दीन हैं बलहीन हैं।

मारो कि पालो कुछ करो, तुम हम सदैव अधीन है।

प्रभु के यहाँ से सभी कदाचित आज हम असहाय हैं।

इससे अधिक अब क्या कहें हाँ हम तुम्हारी गाय है।

जारी रहा यदि यही क्रम यहाँ यों ही हमारे नाश का।

तो अस्त समझो सूर्य भारत भाग्य के आकाश का।

जो तनिक हरियाली रही वह भी नहीं रह पाएगी।

यह स्वर्णभूमि कभी मरघट ही बन जाएगी।

– मैथिलीशरण गुप्त


जो गाय अपनी स्वस्थ अवस्था में हमें अमृत समान दूध देती है, खेती के लिए बैल देती है, ईंधन के लिए गोबर देती है और जिसका मूत्र औषधियों में काम आता है, उसी गाय को लोग वृद्ध होने पर जंगल में छोड़ देते हैं, जहां से उसे कुछ लोग पकड़कर बूचड़खानों में कत्ल होने के लिए बेच देते हैं। कई बार ऐसी गायों को सीधे ही बूचड़खानों में भेजे जाने के लिए बेच दिया जाता है।

मानवीय आधार पर ऐसी गायों की देखभाल के लिए और उनका शेष जीवन भी शांतिपूर्वक गुजरे, इस भावना के साथ मुनिश्री विद्यासागरजी के मार्गदर्शन में गौशालाओं का संचालन किया जा रहा है। इन गौशालाओं में उन गायों को रखा जाता है जो दूध नहीं देती और जिन्हें उनके मालिकों द्वारा छोड़ दिया जाता है या जिन्हें बूचड़खाने ले जाए जाने से बचाया जाता है। आप भी ऐसी गायों का जीवन बचाने में अपना सहयोग दे सकते हैं।


22 Responses to “गौशाला”

Comments (22)
  1. Acharya shri Sadhu sadhviyon ji ko Naman, Vandami!
    Abhi mujhe news padhne mein aayee ki ek vyakti Benaras, Gaya, parasnath ji root par 100 cows every year sanrakshit, palan kar rahe hain! Aur voh brahmin hain!
    Sadhvad!

  2. Sadharmi sathiyo!
    Ek baar meine ek baat padhi ki West se east- National highway par Gayon(Cows)ki Taskari,
    mafiya karte hain!
    Abhi yeh dushkriya band ho gaya aisa sabse yehan pata padta ja raha hai!
    Because mein idhar 9 Years se Scientist in Central Ministry ke research deptt. mein hoon
    SadhuVad!

  3. Dec 04, 2011 at 9:15 am
    ACHARYA VIDHYASAGAR GAUSHALA & MANAV UTHAN KENDRA
    BITTHORE, BAIKUNTHPUR- KANPUR U.P (INDIA)
    SECOND ANNUAL PROGRAMME WILL HELD ON 25/12/2011,VENUE-GAUSHALA KANPUR U.P
    PROGRAME NAME- CHARA KHILAO-GAU BACHO ( EAT CHARA AND SAVE COW)
    PLEASE INVITED ALL GAUSHALA SOCIETY OF ACHARYA VIDHYA SAGAR GAUSHALA.
    PLEASE NOTED IN YOUR GAUSHALA LIST . THAT TIME 180 COWS IN MY GAUSHALA AND NOT GIVEN MILK. I HAVE 88 BIGA JAMEEN .
    VIVEK KUMAR JAIN , AZAD KUMAR JAIN,SANJAY JAIN, ATUL JAIN(ANJALI PLAS.)PADAM KR JAIN,MAHENDRA KATARIA,VIPUL JAIN,RAJEEV JAIN,
    TRUTEE GARGH ACARYA VIDHYASAGAR FOUNDATION TRUST-KANPUR U.P
    MOB- 09415129005

  4. VIVEK JAIN KANPUR says
    July 8, 2010 at 9:43 am
    vidhyasagar.net says:
    July 8, 2010 at 9:15 am

    PLEASE NOTED AND ENTERED MY GAUSHALA IN KANPUR U.P MAHANAGAR IN LISTED
    ACHARYA VIDHYASAGAR GAUSHALA & MANAV UTHAN KENDRA
    BITTHORE, BAIKUNTHPUR- KANPUR U.P (INDIA)
    PLEASE NOTED IN YOUR GAUSHALA LIST . THAT TIME 125 COWS IN MY GAUSHALA AND NOT GIVEN MILK. I HAVE 88 BIGA JAMEEN .
    VIVEK KUMAR JAIN , AZAD KUMAR JAIN
    TRUTEE,CHAIRMAN OF
    ACARYA VIDHYASAGAR FOUNDATION TTRUST
    KANPUR-U.P
    MOB- 09415129005

    • PLEASE NOTED AND ENTERED MY GAUSHALA IN KANPUR U.P MAHANAGAR IN LISTED
      ACHARYA VIDHYASAGAR GAUSHALA & MANAV UTHAN KENDRA
      BITTHORE, BAIKUNTHPUR- KANPUR U.P (INDIA)
      PLEASE NOTED IN YOUR GAUSHALA LIST . THAT TIME 125 COWS IN MY GAUSHALA AND NOT GIVEN MILK. I HAVE 88 BIGA JAMEEN .
      VIVEK KUMAR JAIN , AZAD KUMAR JAIN
      TRUTEE,CHAIRMAN OF
      ACARYA VIDHYASAGAR FOUNDATION TTRUST
      KANPUR-U.P
      MOB- 09415129005

      • आपके लिये बहुत बहुत धन्यवाद……….
        मेरी यह कोशिश है की सभी गौशालाए जो गुरुवर के आशीर्वाद से संचालित हो रही है, उनकी जानकारी मिल जाए जिससे सभी की जानकारी इस वेब साईट को चलाने बाले श्री पाटोदी जी को भेज दी जाए…..

  5. I want to say that some days before in night about 3.00am. Brahmchari Vinay Bhaiya ji go to the police station along with guard and tried to log a false report that 500 nos. gauvansh has found stolen by some peoples at Khaniyadhana (Shivpuri) M.P.

    It is only because the honrable court had decided the case against the Gaushala at Khaniyadhana. and the gauvnash died due to the negligence of Br. Vinay Bhaiya ji.

    I appeal to all Jain Samaj to kindly get action against these types of Branchmchari and get free our Jain Dharm from these evils.

    Rajeev Jain

  6. any body wants to contact me kindly call me on 09680036111

  7. It be noted that Br. Vinay Bhaiya ji now getting donation from Shewtamber jain Samaj in the name of Chandra Shekhar ji Mharaj from mumbai by giving false information.

    • भाई जी गौशाला चलाना बहुत आसन काम नहीं है ……..और यदि आप सोचते है कि आप सहयोग कर सकते है तो हम ललितपुर में आपसे सहयोग चाहेगे…….यहाँ पर भी हर साल कई गाये मर जाती है……..क्योकि यहाँ आती ही ऐसी गाये है जो कुछ दिन कि मेहमान होती है…………अब आप ही बाताएये कि अगर कुछ दिन का समय उन्हें और मिल जाता है जीने के लिए …..क्योकि कत्लखाने में तो वो काटने जा ही रही थी …….पर गौशाला में उनकी शेष आयु भी गुजर जाती है……..और हमारा धर्म भी पल जाता है …..पर हमारे ही समाज के कुछ मीरजाफर और जयचंद जो स्वयं तो पथभ्रस्ट है ही ……और विना विवेक के जिस चाहे पर आरोप लगा देते है……..है कोई माई का लाल जो गौशाला चलाये ………..हम आमंत्रित करते है ललितपुर कि गौशाला के लिए…..पर ध्यान रखना जो शिकायत आप करते है…….वह आपके साथ नहीं होना चाहिए…..

  8. Gurudev ko charan isparsh or sat sat naman,
    gurudev aap dhanya ho jo ki humari maa ki reksha kar rehe ho or hum logo mai jagrati pradhan ker rahe ho . gurudev prabhu ki kripa se humne bhi ek gaushala 2011 mai suru ki hai jisme abhi 22 gaumata hai ager aap kabhi bhi rajasthan mai padhare to aapki is choti si gaushala per jarur padhare or hum logo ko aasirwaad deve taki hum jaise log bhi aap ke charno mai reh sake or maa ki seva ker sake.

    Hemant Paliwal
    Shree hari shree shreenath gaushala
    Kavita udaipur rajasthan
    9413263093

Leave a Reply

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

(required)

(required)

Comment body must not contain external links.Do not use BBCode.
© 2017 vidyasagar.net Designed, Developed & Maintained by: Webdunia