समयसागर जी महाराज इस समय बंडा विहार में हैं सुधासागर जी महाराज इस समय ललीतपुर में हैंयोगसागर जी महाराज का चातुर्मास नागपुर में मुनिश्री प्रमाणसागरजी महाराज का चातुर्मास सम्मेद शिखर जी मेंदुर्लभसागरजी महाराज का चातुर्मास बावनगजा में Youtube - आचार्यश्री विद्यासागरजी के प्रवचन देखिए Youtube पर आचार्यश्री के वॉलपेपर Android पर आर्यिका पूर्णमति माताजी का चातुर्मास इंदौर मेंदिगंबर जैन टेम्पल/धर्मशाला Android पर विनम्रसागरजी महाराज का चातुर्मास खजुराहो में

जिनशासन के सोलह शृंगार- 16 महासतियाँ

जैन धर्म मे अनेको ऐसी नारियो का उल्लेख है, जिन्होने अपने शील व धर्म के बल पर अनेको दृष्टो को पराजित कर दिया और धर्म की स्थापना की. ऐसी धर्मनिष्ठ 16 महासतियो का उल्लेख जैन धर्म में किया गया है ।

जानिये – जैन धर्म में देवियाँ

जैन धर्म कि 16 महासतियो के नाम निम्नलिखत हैं -:

1.ब्राह्मी जी

2.सुन्दरी जी

3.चंदनबाला जी

4.राजिमती जी

5.द्रोपदी जी

6.कौशल्या जी

7.मृगावती जी

8.सुलसा जी

9.सीता जी

10.सुभद्रा जी

11.शिवा सती जी

12.कुंती जी

13.शीलवती जी

14.दमयंती जी

15 .पुष्पचुला जी

16.प्रभावती जी

जिनशासन के सोलह शृंगार- 16 महासतियाँ

हम याद करे सति ब्राह्मी को
सुंदरी और चंदनबाला
राजुल द्रोपदी कौशल्या
मृगावती सुलसा सीता

शीयलपालन का था गहना
विनय का पहना था कंगना
श्रध्दा की माथे पर बिंदिया
सयंम की ओढी थी चूनरीया

उन सतियो को याद करे
प्रभुवर से फरियाद करे
समयक्तव हमे उनके जैसा दे।
धर्म का साथ था
खुद पर विश्वास था
साहस हमे उनके जैसा दे।

सुभद्रा शिवा सति कुंति भी
शीलवती और दमयंती
पुष्पचुला प्रभावती
सहनशीलता की मूर्ति

तूफान भले या हो आंधी
धर्म में श्रध्दा अडिग थी
उन वीरांगनाओ को याद करे
उनके जीवन से प्रेरणा ले ।

उन सतियो को याद करे
प्रभुवर से फरियाद करे
समयक्तव हमे उनके जैसा दे।
धर्म का साथ था
खुद पर विश्वास था
साहस हमे उनके जैसा दे

प्रवचन वीडियो

2022 : विहार रूझान

मेरी भावना है कि संत शिरोमणि विद्यासागरजी महामुनिराज का विहार अंतरिक्ष पार्श्वनाथ (शिरपूर) से यहां होना चाहिए :




2
24
1
20
25
View Result

कैलेंडर

december, 2022

No Events

X