Click here to submit
देश और विदेश के शाकाहारी जैन रेस्तराँ एवं होटल की जानकारी के लिए www.bevegetarian.in विजिट करें देश और विदेश के जैन मंदिरों एवं जिनालय की जानकारी के लिए www.jaintemple.in विजिट करें Apple Store - आचार्यश्री विद्यासागरजी के वॉलपेपर फ्री डाउनलोड करें Apple Store - जैन टेम्पल आईफोन/आईपैड पर Apple Store - शाकाहारी रेस्टोरेंट आईफोन/आईपैड पर दिगंबर जैन टेम्पल/धर्मशाला Android पर शाकाहारी रेस्टोरेंट Android पर आचार्यश्री के वॉलपेपर Android पर Youtube - आचार्यश्री विद्यासागरजी के प्रवचन देखिए Youtube पर आचार्य श्री की जानकारी अब Facebook पर

प्रतिभास्थली ज्ञानोदय विद्यापीठ रामटेक (महाराष्ट्र)

249 views
विश्व वंदनीय आचार्यश्री विद्यासागरजी महाराज(ससंघ) श्री शांतिनाथ दि. जैन अतिशय क्षेत्र रामटेक (महाराष्ट्र) में विराजमान हैं। यहां आचार्यश्री (ससंघ) का 50वां चातुर्मास स्थापना होगा। इस अवसर पर आप सभी सादर आमंत्रित हैं। रामटेक नागपुर से लगभग 55 किलोमीटर की दूरी पर है।

 

जहां भगवान राम ने जिन मंदिर बनवाया था, पद्मपुराण ग्रंथ के अनुसार ऐसे रामटेक के शांतिनाथ के श्रीचरणों में शांति पथ-प्रदर्शक आचार्यश्री विद्यासागरजी अपने 38 शिष्यों सहित विराजमान हैं। यहां आचार्यश्री 5वीं बार चातुर्मास करेंगे।

संत शिरोमणि आचार्यश्री विद्यासागरजी महायतिराज अपने बालयति मुनिसंघ के साथ लगभग 180 किमी का लंबा पद विहार करके मात्र 9 दिनों में नागपुर जिले के ऐतिहासिक व पौराणिक धर्मनगर रामटेक पधारे।

रामटेक में पूज्य गुरुदेव के आशीर्वाद से बालिका गुरुकुल प्रतिभास्थली खुला है जिसमें भारतभर की जैन-अजैन बालिकाएं प्राचीन गुरुकुल पद्धति के अनुसार शिक्षा ग्रहण करती हैं एवं पूज्य आचार्यश्री ने यहां पूर्व में वर्ष 1993, 1994, 2008 व 2013 में चातुर्मास भी किया है।

गुरुवर्यश्री के ही निर्देशन से रामटेक में लाल पाषाण का भव्य जिनालय बना है। यही वह पावन भूमि है, जहां आचार्यश्री ने 24 मुनि दीक्षाएं व 2 आर्यिका दीक्षाएं प्रदान की थीं व 2013 में आचार्यश्री के शिष्य पूज्य सुधासागरजी महाराज ने 20 वर्षों के लंबे अंतराल के बाद गुरुदर्शन किए थे।

यह वही पवित्र भूमि है, जहां चौथे काल में भगवान राम ने अपने चरण टिकाए थे फलत: यह भूमि ‘रामटेक’ नाम से सार्थक हुई। अब यहां की ऊर्जावान मूक माटी को चंदन सम महकाने पुन: गुरुवर पधारे हैं।

हम सब आशा करते हैं कि 4 माह तक गुरु भगवंत की पदरज से यहां की मूक माटी भी चंदन सम बने व सदियों तक अपनी सौंधी सुंगध से जन-जन को अपनी ओर आकर्षित करे!

Website – www.jabalpur.pratibhasthali.org.in

Link of Pratibhasthali

अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें 
श्री जिनेन्द्र जैन लालाजी (रामटेक क्षेत्र अध्यक्ष) : +91-9225211744
सतेंद्र जैन (मामू) {रामटेक क्षेत्र मंत्री} : +91-9423224727
श्री पवन बड़कुर (रामटेक क्षेत्र उपमंत्री) : +91-9420247921

आवास व्यवस्था
श्री सनत जैन {ट्रांसपोर्ट} : +91-9373582422

सोले की भोजन व्यवस्था
श्री सोनू सिंघई : +91-9423401297
श्री अरुण जैन {अनंतपुरा} : +91-8830289491

जनरल भोजन व्यवस्था
श्री आशीष पंचमलाल जैन : +91-9373117066
श्री जिनेश जैन {जिन्नु} : +91-9422102135

ट्रेन संबंधित अधिक जानकारी के लिए  https://www.irctc.co.in/ पर क्लिक करें

श्री शान्तिनाथ दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र (रामटेक)
रामटेक, जिला: नागपुर, महाराष्ट्र – 411 106
संपर्कः-प्रदीप जैन – +91-7114 – 255117

बैंक खाता विवरण

बैंक : बैंक ऑफ बड़ौदा
बैंक खाता : प्रतिभास्थली
खाता क्र. : 46190100004210
शाखा : रामटेक
IFSC : BARBORAMTEK
MICR : 441012502
फोन नं. : +91-9405707781, +91-9561681456, +91-9096425789

© 2017 vidyasagar.net दयोदय चेरिटेबल फाउंडेशन ट्रस्ट (इंदौर, भारत) द्वारा संचालित Designed, Developed & Maintained by: Webdunia