Click here to submit
देश और विदेश के शाकाहारी जैन रेस्तराँ एवं होटल की जानकारी के लिए www.bevegetarian.in विजिट करें देश और विदेश के जैन मंदिरों एवं जिनालय की जानकारी के लिए www.jaintemple.in विजिट करें Apple Store - आचार्यश्री विद्यासागरजी के वॉलपेपर फ्री डाउनलोड करें Apple Store - जैन टेम्पल आईफोन/आईपैड पर Apple Store - शाकाहारी रेस्टोरेंट आईफोन/आईपैड पर दिगंबर जैन टेम्पल/धर्मशाला Android पर शाकाहारी रेस्टोरेंट Android पर आचार्यश्री के वॉलपेपर Android पर Youtube - आचार्यश्री विद्यासागरजी के प्रवचन देखिए Youtube पर आचार्य श्री की जानकारी अब Facebook पर

जयश्री टोंग्या

10,744 views

प्रस्तुति -जयश्री टोंग्या
संगीत – मंगेश जगताप, संदीप चौरसिया
मो. : +91-9826270767


1. आप में जब तक कि कोई पं. न्यामतराय जी
2. या नित चित वो – पं. बुधजन जी
3. जीब तू अनादि – पं. दौलतराम जी
4. ओ जिवडा तू थारी – अनाम
5. परिणती सब जीवन की – पं. भागचंद जी
6. विषय भोग में तूने  ए जिया – पं. न्यामतराय जी
7. दुविधा कब जे है या मनकी – पं. दौलतराम जी
8. हे जिन मै तेरे शरणे आया – पं. दौलतराम जी
9. इक योगी आसान बनावे – पं. नयनानंद जी
10. आत्म अनुभव आवे – पं. भागचंद जी


11. देखो जी आदिश्वर स्वामी
12. भावना की चुनरी ओढ़ कर
13. रंग दो रंग दो
14. साँवरिया
15. चेतु चेतन निज़ में आओ
16. सुनले ओ भोले प्राणी
17. आई रे चेतना
18. हे भवि जान
19. चंद दिनों का
20. अजपाजप


21. विसापा हार स्त्रोत भाग 1
22. विसापा हार स्त्रोत भाग 2
23. विसापा हार स्त्रोत भाग 3
24. कल्याण मंदिर भाग 1
25. कल्याण मंदिर भाग 2
26. कल्याण मंदिर भाग 3
27. कल्याण मंदिर भाग 4
28. एकी भाव स्त्रोत भाग 1
29. एकी भाव स्त्रोत भाग 2


30. णमोकार मंत्र
31. भावना की चुंदड़ी ओढ़ के
32. चेतो चेतन निज़ में
33. सुन ले ओ भोले प्राणी
34. हे भवी जन


35. अजपा जप यह दिन रात
36. जीव तू अनादि
37. परिणति सब जीवन की (ii)
38. दुविधा कब जे है या मन की
39. इक योगी असान बनावे


40. आये आये गुरुवर देखो
41. आंगणियां में आवजो
42. छोटे बाबा रे
43. दर्शन से जागे मेरे भाग्य
44. एक बार आओ जी गुरुवर जी
45. इक योगी असान बनावे
46. गुरु पलक फावड़े
47. गुरुवर आंगणे पधारिया
48. विद्यासागर जी आ के आहार


49. पधारो पधारो जी
50. कल्याण मंदिर स्तोत्र
51. एकी भाव स्तोत्र
52. विषापाहर स्तोत्र
53. बाबा समाधि मरण
54. ओम मंगलम
55. शांतिनाथ स्तुति
56. शांतिनाथ स्तुति
57. परम पंच परमेष्ठी
58. तत्त्व सूत्र

Note : To listen Bhajan just click on Bhajan. To Download Right Click On Bhajan And Click On “Save Target As”.

* वेबसाइट पर प्रस्तुत सामग्री धर्म प्रभावना हेतु डाली गई है। इसे विनयपूर्वक देखें-सुनें, अविनय ना हो। *

10 Responses to “जयश्री टोंग्या”

Comments (10)
  1. jaishree tongya & kasmira jain are good plz much more plz…………………….. from pravin jain (bihar)

  2. Nice voice :))) please add more….

  3. very good

  4. Namostu Sasan sadaiv jaiwant rahe,jaiwant rahe,jaiwant rahe…
    aapse anurodh hai ki ager chhahdala ka audio ho to use add karde.main bahut dhundha per chhahdala ka audio nahi mila.without meaning.plzzzzzzzzzzzzzzzzz

    • Kshama Ji, Jai Jinendra

      You can get chahdhala audio with meaning at jinvaani.org under bhajan – scriptures.

      Hope you got you were looking for.

      Regards,

      Charu

  5. very sweet voice plz add jain pooja

  6. karna priya Bhajain add more

  7. chandra kanta devi jain Gaya apka bhajan bahut pasand aya

  8. surendra jain Gaya mera man gad gad ho gya

  9. ye stotra & bhajan hum kahin bhi sun sakte hai. please add more :)

Leave a Reply

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

(required)

(required)

Comment body must not contain external links.Do not use BBCode.
© 2017 vidyasagar.net Designed, Developed & Maintained by: Webdunia